Marriage Certificate केसे बनवाए ?

Marriage Certificate केसे बनवाए ?

हमारे देश में जहा आधारकार्ड , पैन कार्ड , वोटर आईडी जेसे दस्तावेजों को बनवाना महत्वपूर्ण  है वेसे ही मैरिज सर्टिफिकेट Marriage Certificate बनवाना भी बहुत ज़रूरी है I इसलिए हमारे देश के नागरिको के लिए  विवाह पंजीयन अधिनियम 2008 Marriage Registration Act 2008 के अंतर्गत Marriage Certificate के नियम 10 (2) के अनुसार प्रत्येक विवाहित भारतीय को मैरिज सर्टिफिकेट marriage certificate copy बनवाना अनिवार्य है I

आप marriage certificate online registration के लिए ऑनलाइन भी आवेदन दे सकते है, लेकिन हर state की अलग अलग वेबसाइट है| जैसे marriage certificate Delhi, marriage certificate Kerala या अन्य पर आवेदन दे सकते है |

मेरिज सर्टिफिकेट के प्रकार :

वर्तमान में, दो विवाह पंजीकरण Marriage Registration अधिनियम हैं जिनके तहत मैरिज सर्टिफिकेट जारी किया जाता है:

हिंदू मैरिज एक्ट, Hindu Marriage Act 1955 : जब विवाह पहले से ही सम्पन्न हो गया हो जहां पति और पत्नी हिंदू, बौद्ध, जैन या सिख हों या जब वे इनमें से किसी भी धर्म में परिवर्तित हो जाते हैं, तो उन्हें इन रजिस्ट्रेशन एक्ट के तहत माना जाएगा।

विशेष मैरिज एक्ट, Special Marriage Act 1954 : यह एक्ट विवाह प्रमाण पत्र रजिस्ट्रेशन , दोनों पक्षों  के लिए प्रक्रिया निर्धारित करता है, जहां कोई भी पक्ष हो चाहे  दोनों हिंदू, बौद्ध, जैन या सिख नहीं हैं।

यह मैरिज सर्टिफिकेट copy of marriage certificate कई स्थानों पर प्रस्तुत किया जा सकता है जैसे पासपोर्ट कार्यालय, अदालत, बैंक, बीमा कार्यालय आदि, यह साबित करने के लिए कि दूल्हा और दुल्हन की शादी एक विशेष तिथि पर हुई थी। आप marriage certificate download ऑनलाइन भी कर सकते है|

रजिस्ट्रेशन के लिए यहा रजिस्टर करे

मैरिज सर्टिफिकेट Marriage Certificate  के लिए आवश्यक दस्तावेज :

ऑनलाइन भरे हुए फॉर्म के साथ हमें निम्नलिखित दस्तावेज संलग्न करने होंगे

1. पति का आयु प्रमाण  (निम्नलिखित में से कोई एक)

जन्म प्रमाणपत्र

एसएससी परीक्षा सर्टिफिकेट

पासपोर्ट

सिविल सर्जन सर्टिफिकेट

2. पत्नी का आयु प्रमाण (निम्नलिखित में से कोई एक)

जन्म प्रमाणपत्र

एसएससी परीक्षा सर्टिफिकेट

पासपोर्ट

सिविल सर्जन सर्टिफिकेट

3. आवासीय प्रमाण (निम्नलिखित में से कोई एक)

चुनाव कार्ड

बिजली का बिल

पंजीकृत किराया समझौता

पासपोर्ट

ड्राइविंग लाइसेंस

राशन पत्रिका

4. विवाह प्रमाण

शादी का निमंत्रण कार्ड

पति-पत्नी की 2 पासपोर्ट साइज फोटो के साथ शादी की फोटो अनिवार्य है

5. गवाह

आधार कार्ड या कोई भी आईडी कार्ड

पासपोर्ट साइज फोटो

नोट: एक जेरोक्स  के साथ मूल दस्तावेज सेट को रजिस्ट्रार कार्यालय जाते समय अपने साथ ले जाना चाहिए।

मैरिज सर्टिफिकेट Marriage Certificate लागू करने के लिए eligibility

विवाह करने वालो की आयु पुरुषों के लिए 21 वर्ष और महिलाओं के लिए 18 वर्ष से ज्यादा  होनी चाहिए।

विवाह करने वालो को उस जिले में कम से कम एक महीने तक रहना चाहिए जहां मैरिज सर्टिफिकेट Marriage Certificate रजिस्ट्रेशन होना है।

हिंदू मैरिज एक्ट के तहत विवाह के समय किसी भी पक्ष के एक से अधिक पति या पत्नी नहीं होने चाहिए, जबकि विशेष मैरिज एक्ट  के अनुसार इसकी अनुमति है।

क्या आपने यह पोस्ट पढ़ी: aadhar Card आसानी से केसे बनाये ?

मैरिज रजिस्ट्रेशन Marriage Registration की प्रक्रिया :

हिंदू मैरिज एक्ट, 1955 के तहत :

मैरिज सर्टिफिकेट how to get marriage certificate ऑनलाइन फॉर्म भरें।

अपॉइंटमेंट बुक करें, मैरिज रजिस्ट्रेशन Marriage Registration के समय 3 गवाहों के साथ रजिस्ट्रार कार्यालय पर जाएँ।

सभी आवश्यक दस्तावेजों के साथ एप्लीकेशन जमा करें और मैरिज सर्टिफिकेट Marriage Certificate प्राप्त करें।

विशेष मैरिज एक्ट, 1954  के तहत :

मैरिज रजिस्ट्रेशन अधिकारी Marriage Registration Officer को वर-वधू को विवाह के इच्छुक होने की सूचना 30 दिन पहले देनी चाहिए।

इन 30 दिनों के समय में कोई आपत्ति नहीं उठाई जानी चाहिए, विवाह करने वाले 3 गवाहों के साथ मैरिज ऑफिसर के सामने उपस्थित हो सकते हैं। अगर जोड़े ने शादी के 90 दिनों के भीतर शादी नहीं की, तो उन्हें फिर से प्रक्रिया शुरू करनी होगी।

मैरिज ऑफिस शपथ दिलाएगा और Marriage Certificate जारी कर मैरिज को संपन्न करेगा

विवाह करने वाले और गवाहों के साथ घोषणा और सर्टिफिकेट पर हस्ताक्षर करने के बाद मैरिज सर्टिफिकेट बनवाने की प्रक्रिया पूरी हो जाएगी।

मैरिज सर्टिफिकेट Marriage Certificate क्या उद्देश्य रखता है ? :

  • मैरिज रजिस्ट्रेशन अनिवार्य होने के पीछे का कारण समाज को मजबूत बनाना है
  • दोनों पक्षों (पति और पत्नी) को समान अधिकार देना।
  • विरासत के अधिकार का लाभ उठाने के लिए।
  • बाल विवाह पर प्रतिबंध के लिए ।
  • विवाह के धोखाधड़ी के मामलों से बचाने के लिए ।

मैरिज रजिस्ट्रेशन Marriage Registration को लेकर फ्रॉड या अन्य अपराध करने पर दंड?

किसी भी व्यक्ति को मैरिज रजिस्ट्रेशन नष्ट करने, छेड़छाड़ करने या बेईमानी से या धोखाधड़ी से मैरिज सर्टिफिकेट Marriage Certificate को बदलने पर पांच साल तक की कैद / या 5000 पांच हजार रुपये का जुर्माना लग़ सकता है ।

We will be happy to hear your thoughts

Leave a reply

Microadia
Register New Account
Reset Password